Left खरीदारी जारी रखें
आपका आदेश

आपके कार्ट में कोई आइटम नहीं है

आप इसे भी पसंद कर सकते हैं
₹ 1,190.00
से ₹ 650.00
विकल्प दिखाएं
लाभ और अधिक
  • कम सोडियम होता है
  • पोटेशियम, कैल्शियम और आयरन का समृद्ध स्रोत
  • रक्तचाप के स्तर को कम करने में मदद मिल सकती है
  • जलयोजन में सहायता मिल सकती है
  • पाचन में सुधार करता है
  • त्वचा के स्वास्थ्य के लिए अच्छा है
  • चिकित्सीय लाभ
  • बेहतर रोग प्रतिरोधक क्षमता
  • शुद्ध और प्राकृतिक
  • जैविक हिमालयी गुलाबी नमक
  • कोई संरक्षक नहीं, कोई योजक नहीं
अपने भोजन में हिमालयी गुलाबी नमक शामिल करें
दैनिक उपयोग के लिए स्वस्थ हिमालयी गुलाबी नमक
त्वचा के लाभ के लिए हिमालयन गुलाबी नमक
जैविक ज्ञान द्वारा हिमालयन गुलाबी नमक
प्रमाणित जैविक हिमालयी गुलाबी नमक
विवरण

नमक आहार का सबसे आवश्यक भागों में से एक है! इसका उपयोग लगभग हर व्यंजन में किया जाता है जिसे हम नियमित रूप से खाते हैं और इसलिए ऐसे नमक का चयन करना बहुत महत्वपूर्ण है जो स्वस्थ, शुद्ध और सरल हो। ऐसा ही एक नमक है जैविक हिमालयी गुलाबी सेंधा नमक, जिसे गुलाबी सेंधा नमक, हिमालयन सेंधा नमक या हिमालयी गुलाबी नमक पाउडर के रूप में भी जाना जाता है। हिमालयन गुलाबी सेंधा नमक प्रकृति से प्राप्त होता है और नियमित टेबल नमक की तुलना में बेहद स्वास्थ्यवर्धक होता है।

ऑर्गेनिक ज्ञान पर आप गुलाबी हिमालयन नमक खरीद सकते हैं जो बेहतर गुणवत्ता और कीमत में सर्वोत्तम है। हमारा ऑनलाइन हिमालयन गुलाबी सेंधा नमक बेहद स्वास्थ्यवर्धक और पौष्टिक है और इसे खाना पकाने में इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा, गुलाबी सेंधा नमक या हिमालयन सेंधा नमक सोडियम, पोटेशियम, आयरन और 84 अन्य ट्रेस खनिजों जैसे महत्वपूर्ण खनिजों से भरा हुआ है। हिमालयन गुलाबी सेंधा नमक असंसाधित नमक है और इसलिए यह स्वास्थ्य के प्रति जागरूक लोगों के लिए बहुत फायदेमंद है। इसके चिकित्सीय प्रभाव भी हैं इसलिए जैविक हिमालयन गुलाबी नमक का सेवन करना अच्छा है।

हिमालयन गुलाबी सेंधा नमक/हिमालयन सेंधा नमक स्वास्थ्य के लिए लाभ:

  • गुलाबी हिमालयन नमक शरीर में जल स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है
  • हिमालयन गुलाबी सेंधा नमक पीएच स्तर को स्थिर करने में मदद करता है
  • यह रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है
  • जलयोजन बढ़ाता है और चयापचय में सहायता करता है
  • पोषक तत्वों और खनिजों के बढ़ते अवशोषण को बढ़ावा देता है
  • यह स्वस्थ हड्डियों को बढ़ावा देने और अच्छी नींद लाने में मदद कर सकता है

हिमालयी गुलाबी नमक का उपयोग

  • नमक का स्क्रब बनाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है
  • इसका उपयोग माउथवॉश के रूप में भी किया जा सकता है
  • इसका उपयोग बालों और त्वचा की देखभाल के लिए भी किया जा सकता है
  • केब का उपयोग खाना पकाने में सर्वोत्तम नमक के रूप में किया जाता है
सामान्य प्रश्न
गुलाबी हिमालयन नमक क्या है?

गुलाबी हिमालयन नमक एक प्रकार का सेंधा नमक है जो पाकिस्तान में खेवड़ा नमक खदान से निकाला जाता है। इसे अपना विशिष्ट गुलाबी रंग इसमें मौजूद खनिजों, जैसे लोहा, मैग्नीशियम, पोटेशियम और कैल्शियम से मिलता है।

गुलाबी हिमालयन नमक के उपयोग के क्या फायदे हैं?

गुलाबी हिमालयन नमक को अक्सर नियमित टेबल नमक की तुलना में स्वास्थ्यवर्धक माना जाता है क्योंकि इसमें अधिक खनिज होते हैं। कुछ लोगों का मानना ​​है कि यह पाचन में मदद कर सकता है, सूजन को कम कर सकता है और जलयोजन में सुधार कर सकता है।

क्या गुलाबी हिमालयन नमक का उपयोग खाना पकाने में किया जा सकता है?

हाँ, पिंक हिमालयन नमक का उपयोग किसी भी अन्य प्रकार के नमक की तरह ही खाना पकाने में किया जा सकता है। इसका उपयोग भोजन में मसाला डालने, व्यंजनों में स्वाद जोड़ने या अंतिम नमक के रूप में भी किया जा सकता है।

क्या पिंक हिमालयन नमक अन्य प्रकार के नमक से बेहतर है?

इस बात का कोई निर्णायक प्रमाण नहीं है कि पिंक हिमालयन नमक अन्य प्रकार के नमक से बेहतर है। हालाँकि इसमें टेबल नमक की तुलना में अधिक खनिज होते हैं, लेकिन यह अंतर इतना महत्वपूर्ण नहीं है कि स्वास्थ्य पर ध्यान देने योग्य प्रभाव डाल सके।

क्या गुलाबी हिमालयन नमक का उपयोग त्वचा की देखभाल के लिए किया जा सकता है?

कुछ लोग पिंक हिमालयन साल्ट का उपयोग एक्सफोलिएंट के रूप में या घरेलू त्वचा देखभाल उत्पादों में एक घटक के रूप में करते हैं। हालाँकि, त्वचा पर नमक का उपयोग करते समय सावधान रहना महत्वपूर्ण है क्योंकि यह अपघर्षक और जलन पैदा करने वाला हो सकता है।

क्या पिंक हिमालयन नमक का सेवन सुरक्षित है?

हां, पिंक हिमालयन नमक किसी भी अन्य प्रकार के नमक की तरह ही सीमित मात्रा में सेवन करना सुरक्षित है। हालांकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि अत्यधिक नमक का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है और उच्च रक्तचाप और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का खतरा बढ़ सकता है।

मैं पिंक हिमालयन नमक कहां से खरीद सकता हूं?

पिंक हिमालयन नमक स्वास्थ्य खाद्य दुकानों, विशेष खाद्य दुकानों और ऑनलाइन खुदरा विक्रेताओं पर व्यापक रूप से उपलब्ध है। इसे विभिन्न रूपों में बेचा जाता है, जिसमें महीन और मोटे क्रिस्टल के साथ-साथ ग्राइंडर और शेकर भी शामिल हैं।

गुलाबी नमक और सफेद नमक में क्या अंतर है?

गुलाबी नमक और सफेद नमक के बीच मुख्य अंतर खनिज सामग्री है। गुलाबी नमक, जैसे पिंक हिमालयन साल्ट, में आयरन, मैग्नीशियम, पोटेशियम और कैल्शियम जैसे खनिजों की थोड़ी मात्रा होती है, जो इसे इसका विशिष्ट गुलाबी रंग देता है। सफेद नमक, जैसे कि टेबल नमक, को अधिक भारी मात्रा में संसाधित किया जाता है और खनिजों को हटा दिया जाता है, जिसके परिणामस्वरूप शुद्ध सफेद रंग प्राप्त होता है।

एक और अंतर स्वाद और बनावट का है। गुलाबी नमक को अक्सर सफेद नमक की तुलना में अधिक जटिल स्वाद वाला माना जाता है, जिसमें थोड़ा मीठा और मिट्टी जैसा स्वाद होता है। इसकी बनावट मोटी भी हो सकती है, जिसे कुछ लोग कुछ विशेष प्रकार के खाना पकाने और मसाला बनाने के लिए पसंद करते हैं।

स्वास्थ्य लाभों के संदर्भ में, गुलाबी नमक को अक्सर इसकी खनिज सामग्री के कारण सफेद नमक के स्वास्थ्यवर्धक विकल्प के रूप में विपणन किया जाता है। हालाँकि, इस दावे का समर्थन करने के लिए कोई महत्वपूर्ण वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है, और संभावित स्वास्थ्य जोखिमों से बचने के लिए दोनों प्रकार के नमक का सेवन कम मात्रा में किया जाना चाहिए।

कौन सा नमक अधिक स्वास्थ्यवर्धक है गुलाबी नमक, सफेद नमक या काला नमक

इसका कोई स्पष्ट उत्तर नहीं है कि कौन सा नमक स्वास्थ्यवर्धक है, क्योंकि यह काफी हद तक व्यक्तिगत आहार संबंधी आवश्यकताओं और प्राथमिकताओं पर निर्भर करता है। गुलाबी नमक, सफेद नमक और काले नमक के बीच कुछ प्रमुख अंतर यहां दिए गए हैं:

  1. गुलाबी नमक: गुलाबी नमक, जैसे पिंक हिमालयन नमक, को अक्सर इसमें मौजूद खनिज सामग्री के कारण सफेद नमक के स्वास्थ्यवर्धक विकल्प के रूप में विपणन किया जाता है। हालांकि ये खनिज कुछ स्वास्थ्य लाभ प्रदान कर सकते हैं, लेकिन यह अंतर इतना महत्वपूर्ण नहीं है कि स्वास्थ्य पर ध्यान देने योग्य प्रभाव डाल सके। गुलाबी नमक का उपयोग किसी भी अन्य प्रकार के नमक की तरह खाना पकाने और मसाला बनाने में किया जा सकता है।
  2. सफेद नमक: सफेद नमक, जैसे टेबल नमक, अधिक भारी मात्रा में संसाधित होता है और खनिजों से रहित होता है। इसे अक्सर आयोडीन से समृद्ध किया जाता है, जो थायराइड स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। हालाँकि, सफेद नमक का अत्यधिक सेवन उच्च रक्तचाप जैसी स्वास्थ्य समस्याओं से जुड़ा हुआ है, इसलिए इसका सेवन कम मात्रा में करना चाहिए।
  3. काला नमक: काला नमक, जिसे काला नमक भी कहा जाता है, एक प्रकार का सेंधा नमक है जो आमतौर पर भारतीय व्यंजनों में उपयोग किया जाता है। इसमें एक विशिष्ट सल्फ्यूरिक सुगंध और स्वाद होता है और इसे अक्सर मसाले या मसाला के रूप में उपयोग किया जाता है। काला नमक आवश्यक रूप से अन्य प्रकार के नमक की तुलना में स्वास्थ्यवर्धक नहीं है, लेकिन यह पारंपरिक आयुर्वेदिक चिकित्सा में कुछ अद्वितीय स्वाद और पाचन लाभ प्रदान कर सकता है।

कुल मिलाकर, जब नमक के सेवन की बात आती है तो सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इसका सेवन कम मात्रा में किया जाए और व्यक्तिगत स्वास्थ्य आवश्यकताओं और प्राथमिकताओं पर ध्यान दिया जाए।

Customer Reviews

Based on 7 reviews Write a review